Zara Thehro Lyrics in Hindi, sung by Armaan Malik, Tulsi Kumar. This Song is written by Rashmi Virag & music composed by Amaal Mallik.

Song Details

zara-thero-lyrics-armaan-malik-songsmania
  • Song : Zara Thehro Lyrics
  • Singer : Armaan Malik, Tulsi Kumar
  • Lyrics By: Rashmi Virag
  • Music Composer: Armaan Malik
  • Music Album By : T-Series

Full Lyrics

Zara Thehro Zara Baithon Karni Hai Baatein
Paas Aao Aur Thoda Sard Hai Raatein

Aasan Hota Toh Main Kabka Keh Chuka Hota
Aise Tumhare Samne Khamosh Na Rehta

Zara Thehro Zara Baithon Karni Hai Baatein
Paas Aao Aur Thoda Sard Hai Raatein

Meri Aankhon Mein Sanson Mein
Pehle Bhi Ye Khaab Chalta Raha
Teri Neendon Mein Chukpe Se
Jane Se Jane Kyun Darta Raha

Barish Ki Boondon Sa Ye Dil Girta Barasta Hai
Tu Paas Hote Ho Magar Fir Bhi Tarasta Hai

Zara Thehro Zara Baithon Karni Hai Baatein
Tumko Paana Chaahti Hai Meri Barsatein

Koyi Aaye Na Jaye Na Aao Na
Aisi Jagah Pe Le Chalun
Jahan Waqt Humara Ruka Ho Aur
Main Apne Dil Ki Kahun

Dhadkan Ko Apni Ek Pal Aaraam Na Dena
Is Mod Pe Aakar Ke Dil Ko Tod Na Dena

Zara Thehro Zara Baitho Karni Hai Baatein
Aur Thodi Der Chalne Do Mulaqatein

ज़रा ठहरो ज़रा बैठो
करनी है बातें
पास आओ और थोड़ा
सर्द है रातें
आसान होता तो मैं कब का
कह चूका होता
ऐसे तुम्हारे सामने
खामोश ना रहता

ज़रा ठहरो ज़रा बैठो
करनी है बातें
पास आओ और थोड़ा
सर्द है रातें

मेरी आँखों में सांसों में
पहले भी ये ख्वाब चलता रहा
तेरी नींदों में चुपके से जाने से
जाने क्यूँ डरता रहा

बारिश की बूंदों सा ये दिल
गिरता बरसता है
तुम पास होते हो मगर
फिर भी तरसता है

ज़रा ठहरो ज़रा बैठो
करनी है बातें
तुमको पाना चाहती हैं
मेरी बरसातें

आ..

कोई आये ना जाए ना आओ ना
ऐसी जगह में ले चलूँ
हाँ जहाँ वक़्त हमारा रुका हो
और मैं अपने दिल की कहूँ

धड़कन को अपनी
एक पल आराम ना देना
इस मोड़ पे आकर
दिल को तोड़ ना देना

ज़रा ठहरो ज़रा बैठो
करनी है बातें

और थोड़ी देर चलने दो मुलाकातें

हो..

Full Video